July 3, 2022

guru samachar

news website

रोजाना 12 घंटे प्रैक्टिस करने से उंगलियां सूझीं, लेकिन नहीं मानी हार और बनाया वल्र्ड रिकॉर्ड


ग्वालियर.
15 साल के अंश प्रताप सिंह जादौन 24 घंटे पियानो बजाकर रचा कीर्तिमान

मैं सोशल मीडिया पर देश-विदेश के अपने हम उम्र के एचीवमेंट्स देख रहा था। उस समय मेरे मन में भी ख्याल आया कि मैं क्यों नहीं कोई रिकॉर्ड बना सकता और तब मैंने अपने शौक को जिंदा किया। मैं थर्ड क्लास से ही अच्छा पियानो बजाता आ रहा हूं। इसी को मैंने कॉन्टीन्यू 24 घंटे तक बजाने का चैलेंज खुद को दिया। यह बहुत बड़ा टॉस्क था, लेकिन मेरे हौसले से बड़ा नहीं और 30 दिन की प्रैक्टिस के बाद आखिरकार मुझे सफलता मिली। यह कहना है ग्वालियर ग्लोरी स्कूल में क्लास 10वीं में पढऩे वाले अंश प्रताप सिंह जादौन का। उन्होंने 2 मई से 3 मई तक 24 घंटे लगातार पियानो बजाकर वल्र्ड रिकॉर्ड बनाया। स्टार 2020 का सर्टिफिकेट अंश की फैमिली को शनिवार को प्राप्त हुआ, जिसे समाजसेवी केशव पांडे द्वारा अंश को दिया गया।

टॉस्क कठिन था, लेकिन नामुमकिन नहीं
अंश ने बताया कि लगभग 30 दिन पहले ही मैंने पियानो बजाने की प्रैक्टिस शुरू कर दी थी। जब मैं 12 से 14 घंटे तक बजा पाया, तो उंगलियों मे सूजन आ गई। तब मुझे कपिल साहनी सर ने मोटिवेट किया और मैं थोड़ा रुककर 18 घंटे तक पहुंच गया। अगला पड़ाव 24 घंटे का बहुत कठिन था, तब थोड़ा सा इन्पॉसिबल लगा, लेकिन मेरे मामा वरुण सक्सेना और नितिन सक्सेना ने हिम्मत बढ़ाई और मैंने 24 घंटे पियानो बजाने का निर्णय ले ही लिया।

पूरी रात संग रहे पापा-मम्मी
मैंने 2 मार्च की शाम 7 बजे मैंने पियानो बजाने की शुरुआत की थी, रात के तीन बजते ही बहुत तेज नींद आने लगी, लेकिन जब भी आलस आता, मैं खुद से किया चैलेंज याद करता और फिर उसी एनर्जी के साथ पियानो बजाने जुट जाता। पूरे दिन और रात जागकर मां अंजली और पिता भगत सिंह साथ रहकर उत्साहवर्धन करते रहे।

टीम ने ऑनलाइन किया ऑब्जर्व

अब अगला टारगेट मेरा खुद का बनाया रिकॉर्ड को ब्रेक करना है। इसके लिए मैं अभी से तैयारी करूंगा। उल्लेखनीय है कि अंश ने लॉकडाउन पीरियड को सदुपयोग किया। उन्होंने 24 घंटे पियानो बजाया। इसे वल्र्ड रिकॉर्ड की टीम ऑनलाइन मीडियम से ऑब्जर्व करती रही।